कोई अग्निशमन प्रणाली नहीं; दिल्ली के अस्पताल में आग की लपटों से मरीज की मौत


नई दिल्ली: दिल्ली के रोहिणी इलाके के एक अस्पताल में शनिवार की तड़के एक 64 वर्षीय मरीज की मौत हो गई, जब सुविधा में आग लगने के कारण उसका ऑक्सीजन समर्थन बाधित हो गया था, अधिकारियों ने कहा। उन्होंने बताया कि आग संभवत: शार्ट सर्किट के कारण लगी, ब्रह्म शक्ति अस्पताल, पूथ खुर्द की तीसरी मंजिल पर लगी। पुलिस उपायुक्त (रोहिणी) प्रणव तायल ने बताया कि आग लगने की सूचना सुबह करीब पांच बजे मिली, जिसके बाद स्थानीय पुलिस मौके पर पहुंची और दमकल को बुलाया। दिल्ली दमकल सेवा (डीएफएस) के निदेशक अतुल गर्ग ने कहा कि आग बुझाने के लिए दमकल की कुल नौ गाड़ियां मौके पर भेजी गईं। गर्ग ने बताया कि आग पर पूरी तरह से काबू पा लिया गया है।

डीसीपी ने कहा कि एक मरीज को छोड़कर सभी को सुरक्षित बचा लिया गया, जिसे आईसीयू में भर्ती कराया गया था और वेंटिलेटर सपोर्ट पर था। डीसीपी तायल ने कहा कि किडनी के मरीज और प्रेम नगर निवासी होली को बाहर निकाला गया, लेकिन बिजली और ऑक्सीजन की आपूर्ति बाधित होने के कारण उसकी मौत हो गई।

यह भी पढ़ें- सिद्धू मूसेवाला हत्याकांड: दिल्ली पुलिस ने पंजाबी गायक की हत्या में शामिल 6 शूटरों की पहचान की

उन्होंने कहा कि कोई भी चालू अग्निशमन प्रणाली नहीं मिली और आग निकास द्वार बंद/अवरुद्ध पाया गया।
इस संबंध में भारतीय दंड संहिता (आईपीसी) की धारा 285 (आग या ज्वलनशील पदार्थ के संबंध में लापरवाहीपूर्ण आचरण), 287 (मशीनरी के संबंध में लापरवाहीपूर्ण आचरण), और 304 ए (लापरवाही से मौत का कारण) के तहत मामला दर्ज किया जा रहा है। विहार थाने के डीसीपी ने कहा।

यह भी पढ़ें- मौसम अपडेट: दिल्ली-एनसीआर में 15 जून तक लू से कोई बड़ी राहत नहीं- यहां पढ़ें पूरा पूर्वानुमान

27 मई को दक्षिणी दिल्ली के सफदरजंग अस्पताल और शहर के पूर्वी हिस्से में मक्कड़ मल्टीस्पेशलिटी अस्पताल में आग लगने की घटनाएं हुईं और कोई हताहत नहीं हुआ।

लाइव टीवी



Author: admin

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

Posting....