चीन की कोरोना वैक्सीन पाकिस्तान के लिए सऊदी अरब में बनी सिरदर्द

सऊदी अरब चीन की वैक्सीन लगाने वाला सर्टिफिकेट स्वीकार नहीं कर रहा है. इससे हज या कारोबार या नौकरी के लिए सऊदी अरब जाने वाले पाकिस्तानियों की परेशानी बढ़ गई है.

पाकिस्तानी मीडिया की रिपोर्ट के मुताबिक़ गृह मंत्री शेख रशीद अहमद ने इस्लामाबाद में रविवार को पत्रकारों से कहा कि प्रधानमंत्री इमरान ख़ान ख़ुद इस मसले पर मध्य-पूर्व के उन देशों से बात कर रहे हैं जिन्होंने चीन में बनी वैक्सीन को अब तक मान्यता नहीं दी है.

सऊदी अरब भी उन देशों में से हैं जिसने चीन में बनी वैक्सीन को मान्यता नहीं दी है.

मीडिया रिपोर्टों के मुताबिक़ सऊदी अरब ने फ़ाइज़र, एस्ट्राज़ेनेका, मॉडर्ना और जॉनसन एंड जॉनसन की कोविड वैक्सीन को अपने यहां मंजूरी दी है.

सिंध प्रांत के मुख्यमंत्री और सऊदी राजदूत की मुलाक़ात

इस बीच पाकिस्तान के सिंध प्रांत की सरकार ने उस बयान को वापस ले लिया है जिसमें ये दावा किया गया था कि सऊदी अरब के राजदूत ने चीन में बनी वैक्सीन को मंज़ूरी दिलाने का भरोसा दिलाया है.

शुक्रवार को सिंध प्रांत के मुख्यमंत्री मुराद अली शाह और पाकिस्तान में सऊदी अरब के राजदूत नवाफ़ बिन सईद अहमद अल-मालकी की मुलाक़ात हुई थी.

इस मुलाक़ात के बाद मुख्यमंत्री कार्यालय की ओर से एक बयान जारी किया गया. इसमें कहा गया कि मुख्यमंत्री ने सऊदी राजदूत से आग्रह किया है कि चीनी वैक्सीन को सऊदी अरब में स्वीकार्य वैक्सीन की लिस्ट में जोड़ा जाए ताकि ज़्यादा से ज़्यादा पाकिस्तानी हज के लिए जा सकें.

इसी बयान में ये भी कहा गया कि सऊदी अरब के राजदूत ने भरोसा दिलाया है कि उनकी सरकार चीनी वैक्सीन को मंज़ूरी देगी.

Related Articles

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

Stay Connected

22,037FansLike
2,878FollowersFollow
18,100SubscribersSubscribe
- Advertisement -spot_img

Latest Articles