बंगाल में राजनीतिक हिंसा पर रोकथाम लगाने के लिए CRPF की 725 कंपनियों की तैनाती, बौखलाई दीदी

जैसे-जैसे मतदान की तारीख नजदीक आ रही है… बंगाल की सियासी लड़ाई और भी आक्रामक होती जा रही है। मां, माटी और मानुष के लिए मशहूर बंगाल की धरती, इन दिनों बम, बारूद और धमाके से गूंज रही है।

गुरूवार को बीजेपी सांसद अर्जुन सिंह के घर के पास हुई बमबाजी ने एक बार फिर दहशत का माहौल बनाया। आरोपी अभी तक फरार हैं,
बीजेपी सांसद अर्जुन सिंह ने बंगाल पुलिस पर आरोप लगाया है कि पुलिस अपराधियों की मदद कर रही है। 14 लोगों के नाम से एफआईआर दर्ज हुई, लेकिन अभी तक कोई कारवाई नहीं हुई।

बंगाल में हिंसा के दम पर सियासी खेला होबे या विकास के दम पर ये तो आने वाला वक्त ही बताएगा। लेकिन अभी चुनावी लड़ाई में हिंसा का जमकर बोलबाला है। बीजेपी नेता शुवेंदु अधिकारी के काफिले पर भी हमला हो गया, जिस वक्त शुभेंदु के काफिले पर हमला हुआ उस वक्त केंद्रीय मंत्री धर्मेंद्र प्रधान भी मौजूद थे।

बीजेपी का आरोप है कि शुभेंदु के काफिले पर हमला टीएमसी के कार्यकर्ताओं ने किया है, बीजेपी ने घटना की शिकायत चुनाव आय़ोग से कर दी गई है। बीजेपी सांसद अर्जुन सिंह ने बंगाल पुलिस पर भी आरोप लगाए हैं, अर्जुन सिंह का आरोप है कि अपराधियों को बंगाल पुलिस का पूरा समर्थन है।
इस बीच शुभेंदु अधिकारी के पिता के बाद भाई दिब्येंदु भी बगावत के मूड में आ गए हैं, उन्होंने टीएमसी पर गंभीर आरोप लगाए हैं और कहा है कि ये स्पष्ट करना मुश्किल है कि मैं टीएमसी के साथ हूं।

टीएमसी से बीजेपी में शामिल हुए दिनेश त्रिवेदी ने भी सीएम ममता बनर्जी पर निशाना साधा है, दिनेश त्रिवेदी ने ममता दीदी पर आरोप लगाया है कि सीएम की करनी और कथनी में है फर्क है। तो कुल मिलाकर प.बंगाल में जुबानी जंग के साथ ही बम, बंदूक और लाठी-डंडे से खूनी जंग भी जमकर हो रही है। इसलिए सीआरपीएफ की 725 कंपनियों की तैनाती भी की गई है, लेकिन बावजूद इसके बंगाल की सियासी जमीन पर राजनीति का रक्तचरित्र दिनों दिन सुर्ख हो रहा है।

Related Articles

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

Stay Connected

22,037FansLike
2,878FollowersFollow
18,100SubscribersSubscribe
- Advertisement -spot_img

Latest Articles