Jam On Ghazipur Border: राकेश टिकैत पर हमले के बाद किसानों ने जाम किया गाजीपुर बॉर्डर, 1 घंटे तक ट्रैफिक में फंसे रहे लोग

नाराज किसानों ने करीब एक घंटे तक दिल्ली-मेरठ एक्सप्रेस वे को जाम कर दिया। तनावपूर्ण स्थिति के बीच पुलिस लगातार किसानों को समझाती रही पर वे मानने को तैयार नहीं हुए। बाद में राकेश टिकैट की अपील पर किसान हाईवे से हटे। दूसरी ओर सिंघु बॉर्डर पर कुंडली मानेसर पेरिफेरल पर जाम अभी जारी है।

गाजीपुर बॉर्डर (नोएडा)
राजस्थान में हुए भारतीय किसान यूनियन नेता राकेश टिकैत के काफिले पर हमले (Attack On Rakesh Tikait) के विरोध में गाजीपुर बॉर्डर पर बैठे किसानों का गुस्‍सा फूट पड़ा। प्रदर्शनकारी किसानों ने दिल्ली-मेरठ एक्सप्रेस वे को 1 घंटे से अधिक समय के लिए बंद कर दिया। इस दौरान किसानों ने प्रशासन से टिकैत की सुरक्षा पर भी सवाल खड़े किए। वहीं, टिकैत की अपील के बाद करीब 1 घंटे से बंद पड़े हाइवे को किसानों ने खोल दिया। इससे पहले स्थिति इतनी तनावपूर्ण हो गई थी कि लाठीचार्ज किए जाने के हालात बन गए थे।

शुक्रवार शाम करीब चार बजे राजस्थान के अलवर स्थित ततारपुर चौराहे पर टिकैत पर हमला किया गया। बीकेयू के अनुसार, हमलावर कई गाडि़यों में सवार थे। इसके अलावा ततारपुर चौराहे पर भी बीजेपी समर्थित कुछ लोग पहले से जमा थे। किसानों को हमले की जानकारी मिलते ही उन्‍होंने दिल्ली-मेरठ एक्सप्रेस-वे की दिल्ली से आने वाली लेन को जाम कर दिया। शाम को दिल्ली से आने वाले वाहनों को काफी देर तक जाम में फंसे रहना पड़ा। भारतीय किसान यूनियन के मीडिया प्रभारी धर्मेंद्र मलिक ने बताया, ‘राकेश टिकैत के निर्देश पर किसानों ने दिल्ली-मेरठ एक्सप्रेस-वे का जाम खोल दिया। करीब एक घंटे दिल्ली से आने वाले वाहनों के पहिए जाम रहे।’

जाम में रेंगते रहे वाहन

जाम में रेंगते रहे वाहन
सिंघु बॉर्डर पर जाम जारी
वहीं, दूसरी ओर सिंघु बॉर्डर पर कुंडली मानेसर पेरिफेरल को भी जाम किया है जो अभी तक जारी है। घटना के विरोध में जेवर, भोजपुर में जाम किया गया। जाम को राकेश टिकैत की अपील पर खोला गया। दरअसल राजस्थान में पहली पंचायत हरसौली में करने के बाद राकेश टिकैत अपने समर्थकों के साथ बांसूर में दूसरी पंचायत में शामिल होने जा रहे थे। वहीं बांसूर से करीब 20 किमी पहले ततारपुर चौराहे पर पहले से जमा कुछ लोगों एसयूवी कारों में सवार होकर आए हमलावरों की मदद से राकेश टिकैत के काफिले पर पत्थरों और लाठी-डंडों से हमला कर दिया। हालांकि समर्थकों और सुरक्षा कर्मियों की तत्परता के चलते हमलावर राकेश टिकैत को चोट नहीं पहुंचा पाए, लेकिन एक बीकेयू कार्यकर्ता अरविंद चोटिल हो गया।

अलवर में राकेश टिकैत पर हमला, गाड़ी के शीशे टूटे, बीजेपी पर लगा आरोप, हिरासत में 4 लोग

चिल्‍ला बॉर्डर से हटे लोग
नोएडा के एडीसीपी रणविजय सिंह ने बताया कि कुछ लोग चिल्ला बॉर्डर पर आ गए थे। उनका कहना था कि उनके नेता (राकेश टिकैत) पर हमला हुआ है, उसके बाद उन्हें सुरक्षा दी जाए और जिन्होंने हमला किया है उनपर कार्रवाई की जाए। हमने उन्हें समझाया, अब ये लोग अब हट गए हैं।

बीकेयू किसानों ने लगाये नारे

बीकेयू किसानों ने लगाये नारे
‘गुंडे हमला करेंगे तो बीजेपी नेताओं को सड़क पर नहीं निकलने देंगे’
हमले के बाद बीकेयू नेता राकेश टिकैत ने किसानों और मजदूरों से शांति बनाए रखने की अपील करते हुए हमले का विरोध जताया। उन्होंने कहा कि गुंडे यदि किसान पर हमला करेंगे तो बीजेपी के विधायक और सांसद भी सड़कों पर नहीं निकलने दिए जाएंगे।’ इस बीच भारतीय किसान यूनियन के स्थानीय कार्यकर्ताओं ने हमलावरों के खिलाफ एफआईआर दर्ज करवाई और हमलावरों की एसयूवी कार पुलिस के हवाले कर दी।
गाजीपुर बॉर्डर को किसानों ने किया जामगाजीपुर बॉर्डर को किसानों ने किया जाम

Related Articles

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

Stay Connected

22,037FansLike
2,875FollowersFollow
18,100SubscribersSubscribe
- Advertisement -spot_img

Latest Articles